Google Major SEO Updates in Hindi

Major Google SEO updates hindi -लगभग हर दिन, Google अपने रैंकिंग एल्गोरिथ्म में परिवर्तन का परिचय देता है तथा समय के साथ साथ खुद को अपडेट करता  है। गूगल के सर्च इंजन यानि कि SEO में हुए  Major Google SEO updates निम्न प्रकार है। जिन्होंने सर्च इंजन को काफी हद तक प्रभावित किया तथा पहले  से रैंक कर रही वेबसाइट को अपनी रैंकिंग से हाथ धोना पड़ा ।

Types of Major Google SEO updates

1) Panda Update, 2) Penguin Update, 3) Hummingbird Update, 4) Pigeon Update, 5) EMD Update, 6) Mobile-Friendly Update, 7) Rank Brain Update, 8) Possum Update, 9) Fred Update

Google Panda Update-

Launch date: February 24, 2011

Hazards: Duplicate, plagiarized or thin content; user-generated spam; keyword stuffing 

Google Panda update Duplicate, plagiarized or thin content तथा keyword stuffing पर  आधारित था अर्थात Google का कहना है की आपकी वेबसाइट यूजर को प्रयाप्त ज्ञान देने के लिए बनाई गई होनी चाइये न की सिर्फ Revenue Generate करने के इरादे से। इसीलिए SEO के अनुसार कम से कम आपके पेज पर 350 से 750 words का content होना आवश्यक है ताकि खोज कर्ता को उसके प्रश्नो के उत्तर  मिल सके साथ ही Google का Panda Update, Keyword stuffing पर भी कार्य करता है अर्थात अपने Focus Key-phase को दी गई Maximum Numbers से अधिक प्रयोग करना। 

Google Penguin Update-

Launch date: April 24, 2012

Hazards: Spammy or irrelevant links; links with over-optimized anchor text

वेबसाइट की 60% भाग लगभग Off-Page SEO पर निर्भर  करता है जिसमे  मुख्य कार्य लिंक बिल्डिंग का ही रहता है इसलिए Google Penguin Update, ऑफ पेज के दौरान बनाये गए लिंक्स पर निर्भर करता है। गूगल के अनुसार बनाये गए लिंक्स high DA PA तथा क्वालिटी बैकलिंक होना आवश्यक है तथा आवश्यक है बनाये गए लिंक्स website niche से सम्बंधित हो तथा Spammy or irrelevant न हो

Google Hummingbird Update-

Launch date: August 22, 2013

Hazards:Keyword stuffing; low-quality content

Google Hummingbird Update भी Panda Update की भाति ही एक मुख्य अपडेट था जो Keyword stuffing; low-quality content पर आधारित है। हमिंगबर्ड Google को खोज प्रश्नों की बेहतर व्याख्या करने और खोजकर्ता आशय के अनुरूप परिणाम प्रदान करने में मदद करता है हमिंगबर्ड पृष्ठ क्वेरी के लिए रैंक करना संभव बनाता है, भले ही इसमें वे शब्द न हों जिनमें खोजकर्ता ने प्रवेश किया हो। यह natural language processing की मदद से प्राप्त किया जाता है जो latent semantic indexing, co-occurring terms and synonyms पर निर्भर करता है अर्थात यह फोकस कीवर्ड के अलावा और भी सर्च क्वेरीज प्रदान करने में मदद करता है। 

Google Pigeon Update-

Launch date: July 24, 2014 (US); December 22, 2014 (UK, Canada, Australia)

Hazards:Poor on- and off-page SEO

Pigeon Algorithm User की location पर निर्भर करता है तथा यूजर की location इसमें महत्वपूर्ण role play करती है। Google pigeon update user के ON-page SEO तथा  off page SEO के आधार पर local search को show करने की महत्वता प्रदान करता है 

Google Mobile Friendly Update-

Launch date: April 21, 2015
Hazards: Lack of a mobile version of the page; poor mobile usability

यह अपडेट मुख्य रूप से Mobile user experience को better बनाने के लिए किया गया था तथा आवश्यक है की हमारी वेबसाइट के सभी पेज और पोस्ट मोबाइल में सही प्रकार से open व सही रूप से working होने चाहिए जिसे हम Google Mobile Friendly tool के द्वारा पता लगा सकते है 

RankBrain Update-

Launch date: October 26, 2015
Hazards: Lack of query-specific relevance features; shallow content; poor UX

रैंकब्रेन Google के हमिंगबर्ड एल्गोरिथ्म का हिस्सा है, यह एक मशीन लर्निंग सिस्टम है जो Google को प्रश्नों के पीछे के अर्थ को समझने में मदद करता है, और उन प्रश्नों के जवाब में सर्वोत्तम-मिलान खोज परिणाम प्रदान करता है।
Google Rankbrain को तीसरा सबसे महत्वपूर्ण रैंकिंग कारक कहता है

Possum Update-

Launch date: September 1, 2016

Hazards:Tense competition in your target location

Google Possum update पूरी तरह से searcher’s location पर निर्भर करता है अर्थात आपके द्वारा सर्च की गई query के सबसे करीब तथा relevant  जो business  होगा possum update आपको वही सर्वप्रथम दिखने में मदद करता है। 

Google Fred Update-

Launch date: March 8, 2017

Hazards:Thin, affiliate-heavy or ad-centered content

Google का Fred update उन websites के लिए था जिनको ad-network की सुविधा प्राप्त थी तथा जिसका उपयोग वह मात्र revenue जनरेशन के लिए ही प्रयोग कर रहे थे तथा अपनी वेबसाइट पर चलने वाले ad को customization उचित प्रकार न करके यूजर को content ब्लॉक कर affiliate-heavy or ad-centered content का प्रयोग किया गया था। 

For more information in English read Major google algorithm updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *